रविवार, 7 फ़रवरी 2016

Ms. Paro (Areena Khan) -- राजस्थान की पहली हाॅकर बालिका


पिताजी के गुजर जाने के बाद का संघर्ष
 मैं पारो (अरीना ख़ान) मेरे परिवार में 7 बहनें जिसमें2 बहनों की शादी हो गई एवं 2 भाई और मेरी अम्मी है। 8 साल की थी तब पिताजी का साया सिर से उठ गया था तब मैं पांचवी क्लास में पढा करती थी पिताजी अखबार बांटने का कार्य करते थे। तबीयत खराब होने के कारण उनके साथ साईकिल पर धक्का लगाती हुई जाया करती थी तब पता नही था जो काम मैं खेल समझ कर कर रही हूॅ वो ही कार्य मेरी जिन्दगी का एक हिस्सा बन जायेगा। पापा के गुजर जाने के बाद से अब 14 साल हो गये तब से अखबार बांटने का कार्य कर रही हूॅ। बचपन कब गुजर गया पता ही नही चला।

अखबार बांटने तथा पढाई का संघर्ष
  सुबह 5 बजे अन्धेरे में उठकर अखबार खरीदना, बांटना, आवारा कुत्तो का भोंकना सर्दी, गर्मी, बरसात कभी छुट्टी नही करना काफी मुष्किल होता है। काम के साथ साथ मेने पढाई भी जारी रखी अखबार बांटने के बाद 8 बजे स्कूल जाया करती थी, देरी से स्कूल पहुचनें पर डांट भी पडती थी देर से जाने का सिलसिला सातवी क्लास चक चला फिर मुझे उस Government स्कूल ने मुझे स्कूल से टी.सी. दे कर निकाल दिया, दर दर एडमिशन के लिये भटकती रही लेकिन किसी ने मुझे सहयोग नही किया तब मैने रहमानी माॅडल सीनियर सै0 स्कूल में अपनी परेषानी बताई और देर से स्कूल आने की अनुमति मांगी तब जा कर उन्होने मुझे देर से आने के लिये अनुमति दी। इस संघर्ष के साथ मैने 12वी क्लास कम्पलीट की।

9वी क्लास से जाॅब का संघर्ष
  जब मैं 9वी क्लास में आयी तो पढाई का खर्चा सताने लगा ऐसे में मेने हिम्मत नही हारी, अखबार बांटने के बाद स्कूल जाने के साथ साथ मैं शाम को हाॅस्पिटल में पार्ट टाईम (नर्स) कार्य शुरू किया। मैने 3 साल तक रामा हाॅस्पिटल एवं गंगापोल हाॅस्पिटल में काम किया जिससे मेरा और छोटी बहन का पढाई का खर्चा निकलता था। स्कूल का होमवर्क भी मैं हाॅस्पिटल में ही किया करती थी।

12वी क्लास के बाद फुलटाइम जाॅब एवं पढाईः-
12वी क्लास के बाद महारानी काॅलेज से प्राईवेट पढाई की और साथ में फुलटाइम जाॅब शुरू कर दी ,
1. ढेर साल तक Genpact india pvt. Ltd. (BPO) sitapura में कार्य किया इसके बाद मैने
2. पंत कृषि भवन, अषोक नगर, जयपुर, में 1 वर्ष बतौर कम्प्यूटर आॅपरेटर कार्य किया
3. वर्तमान में राजस्थान के व्यापारियों एवं उद्योगपतियों की शीर्षस्थ संस्था फैडरेषन आॅफ राजस्थान ट्रेड एण्ड इण्डस्ट्री में कार्यरत हूं। सुभाष चैक स्थित पन्नीगरो के रास्ते से निकल कर एक नयी मिसाल कायम करने में जुटी हूॅ।

समाज के सवाल व तानेः-
जब में छोटी थी तब लोगो को इतना अजीब नही लगता था जैसे-जैसे मैं बडी होने लगी लोगो की निगाहें चुभने लगी लोग ताने कसने शुरू कर दिये बाते बनाने लगे, कुछ मनचले लडके कभी पेपर वाली कह कर चिढाते तो कभी टिप्पणी करते, ऐसे में मैने पूरी हिम्मत के साथ उनका मुंहतोड जवाब दिया तो कभी पिटाई भी की।

आकर्षन का केन्द्रः-
राजस्थान की पहली हाॅकर बालिका के रूप में कार्य करते हुये जब कोई मुझे देखता है तो मानो मुझसे ज्यादा आष्र्चय चकित कुछ हो ही नही बार बार पलट कर देखना तो कभी साथी को भी मुझे दिखाने का इषारा करना, कभी कोई रास्ते में ही मुझे रोक कर सवाल करने लगते, आप पेपर बांटती हो, कब से, क्यों, पढाई भी करती हो जैसे सवालो का सामना करना पढता है।

बेटी होने पर गर्व
मुझे खुषी है मैं अपने परिवार की बेटी हूॅ, जो सम्मान मुझे बेटी होने पर मिला अगर मेैं बेटा होती तो शायद वो मान-सम्मान समाज में नही मिल पाता मेरे इस काम ने मुझे एक अलग पहचान दी है आज भी जब मुझे इतने बडे लोगो के द्वारा सम्मानित किया जाता है तो वो पल मेरी जिन्दगी का यादगार पल बन जाता है।

पुरस्कार एवं सम्मानित
1. 2010 मंे श्री राजीव अरोडा, फैडरेशन आॅफ राजस्थान एक्सपोर्ट अध्यक्ष, एवं श्री
   मनीष भण्डारी उच्च न्यायालय के न्यायाधीष द्वारा बहादुरी अवार्ड प्राप्त किया।

2. महिला दिवस 08.03.2013 के अवसर पर पूर्व महापौर श्रीमती ज्यौति खण्डेलवाल, श्री अरूण चतुर्वेदी एवं श्री बृजकिषोर जी शर्मा द्वारा साफा, सर्टिफिकेट, एवं गुलपोषी कर सम्मानित ।

3. दिल्ली में 10.08.2015 को देश की पहली आईपीएस श्रीमती किरन बैदी द्वारा अब के बरस मोहे बिटिया ही किजो बहादुरी अवार्ड एवं गुजरात की मुख्यमन्त्री श्रीमती आनन्दी बैन पटेल, श्रीमती मेनका गांधी एवं श्रीमती शालू जिन्दल से खास मुलाकात।

4. दिनांक 05.10.2015 आॅल इण्डिया वेलफेयर सोसायटी की और ‘‘कुरजा’’ सम्मान समारोह में केद्रीय केबिनेट मन्त्री श्री जुगल ओरम और सामाजिक एवं अधिकारिता मन्त्री श्री अरूण चतुर्वेदी द्वारा ‘‘बेटी-सृष्टि रत्न’’ से सम्मानित ।

5. नवरात्रा के अवसर पर 11.10.2015 को एफएम 95 तडका आर.जे सचिन के साथ एवं रेड एफएम 93.5 आर.जे उपासना के साथ नारी शक्ति पर विषेष इन्टव्यू

6. हाल ही (भारत सरकार) केन्द्रिय महिला एवं बाल विकास विभाग की और से देश की श्रेष्ठ 100 शक्तिशाली महिलाओ में शामिल व 22 जनवरी 2016 को राष्ट्रपति भवन में माननीय श्री प्रणव मुखर्जी (राष्ट्रपति) द्वारा सभ्मानित व

7. 26 जनवरी 2016 गणतन्त्र दिवस समारोह पर विषिष्ठ अतिथि के रूप मे शामिल किया गया।

8. 31-01-2016 को राजस्थान युवा संस्था एवं नेहरू युवा संगठन जयपुर की और से "विवेकानन्द गौरव " से सम्मानित |

नाम - पारो (अरीना खान)
उम्र - 23 वर्ष
षिक्षा- बी.ए फाइनल
पता - 3113, पन्नीगरो का रास्ता, सुभाष चैक , जयपुर , राज0
मोबाईल - 9829559241 / 7877761370




कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

मेरे बारे में

मेरी फ़ोटो

पोस्‍ट-ग्रेज्‍युएट डिग्री ली है अर्थशास्‍त्र में .. पर सारा जीवन समर्पित कर दिया ज्‍योतिष को .. अपने बारे में कुछ खास नहीं बताने को अभी तक .. ज्योतिष का गम्भीर अध्ययन-मनन करके उसमे से वैज्ञानिक तथ्यों को निकलने में सफ़लता पाते रहना .. बस सकारात्‍मक सोंच रखती हूं .. सकारात्‍मक काम करती हूं .. हर जगह सकारात्‍मक सोंच देखना चाहती हूं .. आकाश को छूने के सपने हैं मेरे .. और उसे हकीकत में बदलने को प्रयासरत हूं .. सफलता का इंतजार है।