गुरुवार, 11 फ़रवरी 2016

डॉ सुजाता संजय : गरीबों की चिकित्‍सीय सुविधा के लिए समर्पण

डाॅ0 सुजाता संजय जिन्होंने प्रारम्भिक शिक्षा सरकारी विद्यालयों में प्राप्त करते हुए एम.बी.बी.एस. शिक्षा एवं स्त्री एवम् प्रसूति रोग विषेषज्ञ की शिक्षा गजराज मेडिकल काॅलेज ग्वालियर से सम्पन्न की। डाॅ0 सुजाता संजय एक कुशल, सुयोग्य, उच्च कोटि की स्त्री एवं प्रसूति रोग विशेषज्ञ हैं। वर्तमान में डाॅ0 सुजाता संजय, देहरादून स्थित संजय आॅर्थोपीडिक स्पाइन एवं मैटरनिटी सेन्टर में समर्पित भाव से कार्य कर रही है।
डाॅ0 सुजाता संजय की संक्षिप्त उपलब्धियाॅ निम्न प्रकार से हैः-
डाॅ0 सुजाता संजय ने आज हमारे प्रदेश देवभूमि उत्तराखंड का नाम पूरे राष्ट्र में गौरान्वित किया। डाॅ0 सुजाता संजय को महिला एवं बाल विकास मंत्रालय भारत सरकार 100 वीमेन आॅफ इंडिया अवार्ड से राष्ट्रपति मा0 श्री प्रणव मुखर्जी द्वारा सम्मानित किया गया। डाॅ0 सुजाता संजय कीे यह पुरस्कार उनकी निःस्वार्थ चिकित्सा एवं समाज सेवा के उल्लेखनीय कार्यो के लिए दिया गया। डाॅ0 सुजाता संजय ने यह अपनी अल्प आयु में ही कीर्तिमान हासिल किया जिसकी वजह से उत्तराखंड राज्य का नाम गौरान्वित हुआ। 
आगरा में 17 जनवरी 2016 को श्पद्मश्री कमला बाई होस्पिटश् अवार्डश् से सम्मानित किया गया। डाॅ0 सुजाता संजय के निःस्वार्थ भाव से सामाजिक एवं चिकित्सा के क्षेत्र में दूरस्थ क्षेत्रों स्कूलों, काॅलेजों एवं गर्भवती महिलाओं के लिये किये गये जन-जागरूकता व्याखान, मातृत्व से सम्बधित जानकारी एवं निःषुल्क चिकित्सा के लिए यह सम्मान मिला। उन्हें यह अवार्ड सुप्रवाह गंगा यात्रा के तहत बेस्ट बंगाल, झारखंड, उत्तरप्रदेष, बिहार एवं उत्तराखंड के चिकित्सकों में से डाॅ0 सुजाता संजय के उत्कृश्ट सामाजिक एवं चिकित्सा के कार्यो के लिए उन्हें इन पांच राज्यों में से चुना गया। 

सितम्बर 2015 डाॅ0 सुजाता संजय को श्उत्तराखण्ड गौरवश् स्त्री रोग विशेषज्ञा एवं शल्य चिकित्सा के रूप में देहरादून शहर को लगातार सेवाऐं उपलब्ध करवाने के उल्लेखनीय योगदान के लिए दिया गया। यह सम्मान ले.ज. से.नि. के.के.खन्ना ;पूर्व कमान्डेन्ट आई.एम.ए.द्धदेहरादून, डाॅ0 एस. फारूक समाजसेवी एवं मा0 श्री अशोक वर्मा राज्य मंत्री उत्तराखंड द्वारा अंलकृत किया गया।

दि0 1 जुलाई 2015 को चिकित्सा के क्षेत्र में डाॅ0 सुजाता संजय को देवभूमि उत्तराखण्ड के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मन्त्री माननीय श्री सुरेन्द्र सिहं नेगी जी  द्वारा श्विशिष्ट चिकित्सक सम्मानश् से सम्मानित किया गया।  

देवभूमि उत्तराखण्ड के माननीय मुख्यमंत्री श्री हरीश रावत जी द्वारा डाॅ0 सुजाता संजय को चिकित्सा के क्षेत्र में “इंदिरा गाॅधी नेशनल अवार्ड” से सम्मानित किया गया।  

29 मार्च 2015 को चिकित्सा के क्षेत्र में डाॅ0 सुजाता संजय को माननीय डाॅ0 हरक सिंह रावत, मंत्री शिक्षा, चिकित्सा एवं सैनिक कल्याण,उत्तरखण्ड द्वारा सम्मानित किया गया।  

डाॅ0 सुजाता संजय को श्ठमेज व्इेजमजतपबपंद - ळलदंबवसवहपेज पद क्मीतंकनदश् के सम्मान से श्री अनिल के.शास्त्री (पूर्व वित मंत्री, भारत सरकार) एवं श्रीमती सुधा यादव (पूर्व सांसद) के द्वारा सम्मानित किया गया।  

उत्तराखंड की प्रथम स्त्री एवं प्रसूति रोग विषेशज्ञा जिन्होंने गुर्दा प्रत्यारोपित गर्भवती महिला का सफल आॅपरेशन कर नवजात शिशु को जीवन प्रदान किया। इस कीर्तिमान को देश-विदेश के समाचार पत्रों में बहुत सराहना हुई।

दि0 3 मई 2015 को सामाजिक कार्य एवं चिकित्सा के क्षेत्र में किये गये कार्यो के लिये डाॅ0 सुजाता संजय को पूर्व विधायक जोत सिंह गुनसोला मा0 अध्यक्ष सांस्कृतिक एवं मेला प्रधिकरण मसूरी द्वारा श्मसूरी रत्नश् अलंकरण से नवाजा गया।

दि0 13 जून 2015 को चिकित्सा के क्षेत्र में योगदान के लिए डाॅ0 सुजाता संजय को माननीय प्रीतम सिंह पॅवार, मंत्री शहरी एवं विकास, मन्त्री उत्तराखण्ड द्वारा सम्मानित किया गया।  

दि01 जुलाई 2014 चिकित्सा दिवस के अवसर पर डाॅ0 सुजाता को चिकित्सा के क्षेत्र में माननीय श्री दिनेश अग्रवाल मंत्री (उत्तराखंड ) द्वारा सम्मानित किया गया। 

दि0 7 अप्रैल 2014 विश्व स्वास्थ्य दिवस के अवसर पर चिकित्सा के क्षेत्र में डाॅ0 सुजाता को श्री हरबंस कपूर मा0 विधायक एवं पूर्व विधानसभा अध्यक्ष (उत्तराखंड) द्वारा सम्मानित किया गया। 

9 फरवरी 2014 को चिकित्सा के क्षेत्र में डाॅ0 सुजाता संजय को सम्माननीय श्री गणेश जोशी, विधायक मसूरी (उत्तराखंड) द्वारा सम्मानित किया गया। 

डाॅ0 सुजाता संजय, जिन्होंनें छः वर्षो के अल्पकाल में निःशुल्क स्वास्थ्य परामर्श शिविर द्वारा 5000 ;पाॅच हजारद्ध से भी अधिक महिलाओं को परामर्श व उपचार किया। डाॅ0 सुजाता के इस निःस्वार्थ भाव के काम को प्रदेश की महिलाओं एवं वरिष्ठ लोगों ने भी सराहा है। अभी तक इनके द्वारा 185 से भी अधिक निःशुल्क स्वास्थ्य शिविरों का आयोजन प्रदेश के ग्रामीण एवं आस-पास क्षेत्रों में किये गये है। भविष्य में उन्होंने उत्तराखंड के प्रत्येक जनपदों के कुछ गाॅव में अपनी स्वास्थ्य सेवाऐं देने का संकल्प किया है। 

डाॅ. सुजाता संजय की उपलब्धियों तथा मानव समाज की निःस्वार्थ भाव से विशिष्ट सेवा करने के गुणों को प्रदेश तथा देश के नागरिकों, समाचार पत्रों, रेडियो तथा टी.वी. ने भी सराहा है। इनके 12 से भी अधिक प्रोग्राम दूरदर्शन टी.वी. चैनल में प्रस्तुत किये जा चुके है। जिसका मुख्य लक्ष्य महिलाओं को स्वास्थ्य के प्रति जागरुक कराना है।

स्त्री रोगों से सम्बन्धित कार्यक्रम आॅल इंडिया रेडियो ;।प्त्द्धए थ्डए लोकल चैनल में प्रसारित होतेे है। इनके द्वारा थ्ड रेडियो चैनल में महिलाओं के स्वास्थ्य सम्बन्धी कार्यक्रम प्रत्येक सप्ताह प्रसारित किये जाते है। अभी तक इनके द्वारा 50 से भी अधिक प्रोग्राम प्रसारित किये जा चुके है।

डाॅ. सुजाता संजय द्वारा 200 से भी अधिक स्वास्थ्य सम्बन्धी स्त्रियों एवं बच्चों से सम्बन्धित स्वास्थ्य समस्याओं के ऊपर लेख समाचार पत्रों में छापेे जा चुके है।

डाॅ. सुजाता संजय द्वारा साप्ताहिक त्मबनततमदज च्तमहदंदबल सवेे बसपदपब जिसमें की महिलाओं को निःशुल्क गर्भपात ;डपेबंततपंहमद्ध के बचाव एवं सुझाव बताये जाते है।

डाॅ0 सुजाता संजय वर्तमान में सोसाइटी फार हेल्थ, ऐजूकेशन एण्ड वूमैन इमपावरमेन्ट एवेयरनेश (सेवा) एन.जी.ओ. के माध्यम से सेवा का कार्य कर रही है। जिसमें किशोरियों व गर्भवती महिलाओं को निःशुल्क परामर्श एवं  स्वास्थ्य के प्रति जानकारी देती है ताकि वे स्वस्थ परिवार का निर्माण कर सकें। 

डाॅ. सुजाता संजय के अस्पताल द्वारा एक स्वास्थ्य मासिक समाचार-पत्र (हैल्थ पोस्ट) का प्रकाशन नियमित  किया जाता है जो स्त्रियों एवं गर्भवती महिलाओं को निशुल्क जन-जागरणार्थ उपलब्ध करवाया जाता है। 

रोटरी क्लब द्वारा आयोजित कार्यक्रम सरवाकल कैंसर के दौरान मुख्य वक्ता  डाॅ0 सुजाता संजय ने महिलाओं को जागरूक किया। 

डाॅ0 सुजाता संजय द्वारा समाज में महिलाओं एवं बालिकाओं को स्वास्थ्य के प्रति जागरूक करने हेतु जन जागरूकता अभियान के तहत विभिन्न बीमारियाॅ जैसेः मासिक धर्म, स्तनपान, मीनोपोज़, सरवाइकल कैंसर, पी.सी.ओ.डी. एवं हाईजीन के बारे में बताया जाता है। 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

मेरे बारे में

मेरी फ़ोटो

पोस्‍ट-ग्रेज्‍युएट डिग्री ली है अर्थशास्‍त्र में .. पर सारा जीवन समर्पित कर दिया ज्‍योतिष को .. अपने बारे में कुछ खास नहीं बताने को अभी तक .. ज्योतिष का गम्भीर अध्ययन-मनन करके उसमे से वैज्ञानिक तथ्यों को निकलने में सफ़लता पाते रहना .. बस सकारात्‍मक सोंच रखती हूं .. सकारात्‍मक काम करती हूं .. हर जगह सकारात्‍मक सोंच देखना चाहती हूं .. आकाश को छूने के सपने हैं मेरे .. और उसे हकीकत में बदलने को प्रयासरत हूं .. सफलता का इंतजार है।